SEO friendly blog post likhane ka Achcha tarika Hindi mein Jaane

SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखते हैं? जानिए पूर्ण जानकारी 2021

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हम जानने वाले हैं। ब्लॉग पोस्ट के बारे में कि ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखते हैं? क्योंकि कभी-कभी क्या होता है? कि लोग ब्लॉग तो बना लेते हैं। लेकिन उनकी वेबसाइट पर अच्छा ट्रैफिक नहीं आ पाता है जिसकी वजह से अर्निंग नहीं हो पाती है। पर हम आपको बता देंगे ट्रैफिक केवल Seo नहीं आता है। अर्थात बैकलिंक्स के द्वारा भी नहीं आ पाता है। इसलिए यहां पर सबसे महत्वपूर्ण बात होती है। ब्लॉग पोस्ट का होना क्योंकि पोस्टिक ऐसी चीज होती है। जो कि बिंग या फिर गूगल जैसे लोकप्रिय सर्च इंजन में रैंक होती है।

नई पोस्ट के लिए विचार कैसे लाएं?

आमतौर पर लोग यूट्यूब बगैरा पर वीडियो देखकर ब्लॉक तो बना लेते हैं। लेकिन वह यह नहीं जान पाते हैं। कि नई पोस्ट के लिए टॉपिक कहां से लाया जाए इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टॉपिक के बारे में बताने वाले हैं जिन पर आप नई पोस्ट लिख कर ज्यादा से ज्यादा फायदा उठा सकते हैं। सबसे पहले आपको इसके लिए गूगल क्रोम ब्राउजर और मोज़िला फायरफॉक्स ब्राउजर को ओपन कर लेना है।

एवं सर्च बॉक्स में कीवर्ड एवरीव्हेयर टूल को टाइप करके ब्राउज़र में इंस्टॉल कर लेना है। फिर साइन अप करने के बाद उसे बंद कर देना है। अब सर्च बॉक्स में आप कोई भी चीज सर्च करोगे यानी कि टाइप करोगे तो उस से रिलेटेड आपको काफी सारी जानकारी मिल जाएगी और यह भी पता लग जाएगा कि उसे दुनिया में कितना खोजा जा रहा है। यानी कि उसे किस प्रकार खोजा जा रहा है। उसी हिसाब से आपको अपना टॉपिक बना लेना है।

पोस्ट के अंदर हाई क्वालिटी के कीवर्ड्स कैसे लगाते हैं?

सबसे पहले तो आपको पोस्ट के टाइटल में एक या दो मेन कीवर्ड डाल देने हैं। फिर पोस्ट की हेडिंग में भी उसी मैन कीवर्ड को डाल दें उसके बाद पोस्ट को टॉपिक के मुताबिक बता दें। कि उसमें आप क्या कहना चाह रहे हैं? जिससे आपके विजिटर को अच्छे से समझ में आ सके। और आपको भूल कर भी ऐसी पोस्ट अपलोड नहीं करनी है। जो कि आपके विजिटर के लिए फायदेमंद नहीं हो। इसलिए हमेशा ऐसे ही पोस्ट लिखें जिससे विजिटर को अधिक फायदा मिले।

क्योंकि ऐसा करने से आपकी पोस्ट गूगल में काफी तेज तरीके से रैंक होगी। एवं अपनी पोस्ट के अंदर अधिक हेडिंग ना लगाएं। इसके बाद आपको अपनी हेडिंग को सिलेक्ट करके पोस्ट एरिया के लेफ्ट सेक्शन में चले जाना है। और वहां पर आपको कंपोज एवं एचटीएमएल से आगे एक बॉक्स दिखेगा। जिसके अंदर आप अपनी हेडिंग को सेलेक्ट कर सकते हैं। इस प्रकार आप की हेडिंग तैयार हो जाएगी।

Subheading लगाने की पूर्ण विवेचना?

जिस तरह आप हेडिंग बनाते हैं। बिल्कुल उसी प्रकार सब हेडिंग भी बनाया जाता है। आपको केवल है उस सब- हेडिंग के अंदर अपने कुछ कीवर्ड डाल देने हैं। और जितना हो सके लंबी हेडिंग वाले कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए। जिसे आप कीवर्ड एवरीव्हेयर की सहायता से सरल तरीके से पा सकते हैं। या फिर आप गूगल में सर्च करोगे तो अंत में आपको कुछ नीले कलर के कुछ संबंधित टॉपिक कीवर्ड्स मिल जाते हैं। जिनकी हैडिंग काफी लंबी होती है।

अगर आप चाहे तो इन्हें भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यहां पर आपको एक बात ध्यान में रखनी है कि आपको अपनी पोस्ट के अंदर ज्यादा से ज्यादा 2 से लेकर 4 सब- हेडिंग ही बनानी है। इसके बाद कंपोज और एचटीएमएल से आगे फिर से एक बार बॉक्स में चले जाना है। जिसके अंदर आपको सब -हेडिंग को सिलेक्ट कर लेना है। इस प्रकार आपकी सब- हेडिंग बनकर तैयार हो जाती है।

SEO फ्रेंडली डिस्क्रिप्शन कैसे लगाते हैं?

यहां पर आप अपनी हेडिंग एवं सब -हेडिंग्स को एक-एक करके कॉपी कर लें। फिर इसके बाद आपको दाएं तरफ में डिस्क्रिप्शन बॉक्स के अंदर इन्हें पेस्ट कर देना है। इसके बाद आपकी जो मेन हैडिंग हैं।उसे कॉपी करके गूगल के सर्च बॉक्स में पेस्ट कर दें। इससे आपके जो संबंधित कीवर्ड होते हैं। उनको एक एक करके कॉपी करें फिर पेस्ट कर दें इसके बाद आपको उन्हें सेव कर देना है।

SEO फ्रेंडली परमा लिंक कैसे बनाते हैं?

पहले फ्रेंडली परमा लिंक ब्लॉगर में ऑटोमेटिक तरीके से सेट हो जाता था। लेकिन अब के समय में कस्टम पर मालूम की सुविधा भी ब्लॉगर पर हमें देखने को मिल जाती है। उसके लिए आप पोस्ट वाले सेक्शन में जैसे ही करें करेंगे तो आपको परमा लिंक वाले ऑप्शन पर क्लिक करने से आपके सामने ऑटोमेटिक एवं कस्टम के यह दो ऑप्शन खुल जाते हैं।

MR Ankit YT

जिसके अंदर आप कस्टम को सिलेक्ट कर सकते हैं। एवं अपनी मनपसंद SEO फ्रेंडली परमा लिंक दे सकते हैं। और हां इसके अंदर आप अपनी पोस्ट के टाइटल और हेडिंग के मेन कीवर्ड्स जरूर डालने हैं। इसी के साथ आपको परमा लिंक प्लेस के लिए (-) डेश के चिन्ह का जरूर इस्तेमाल करना चाहिए। एवं आपकी परमानेंट के अंदर हिंदी के शब्द नहीं मिलने चाहिए। क्योंकि गूगल कभी भी हिंदी शब्दों को नहीं पड़ता है

निष्कर्ष ( conclusion )

दोस्तों हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको बेहद पसंद आई होगी। अगर हमारी इस पोस्ट से आपको जरा सा भी लाभ हुआ हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ एवं सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि बाकी लोगों को भी इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकें धन्यवाद।

Leave a Comment