GPS क्या है और कैसे काम करता है?

GPS क्या है और कैसे काम करता है?

What is GPS and how does it work

नमस्कार दोस्तों एक बार से आपका इस नई पोस्ट में स्वागत है कुछ समय पहले की बात है कि किसी स्थान पर अगर कुछ ज्यादा तो सूरज की दिशा और तारों को देखना, और पानी के रास्ते से गुजर ना इसके द्वारा चाल को देखा जाता था और इस तरह सब कुछ देख लिया जाता था कि किस प्रकार कहां पर और किस दिशा में जा रहे हैं लेकिन दोस्तों आज के समय में यह सब जीपीआरएस का इस्तेमाल करते हैं और GPRS आपने हमारी सारी जिंदगी बदल दी है इतनी हमारी जिंदगी को बहुत ही आसान बना दिया है लेकिन क्या आप लोग जानते हैं कि GPS का मतलब क्या होता है और इसे कैसे इस्तेमाल किया जाता है।

GPS क्या होता है ?

जीपीएस एक प्रकार का navigation प्रणाली होती है जो सभी उपग्रह पर आधारित है जब आप लोग किसी भी जगह से दूसरी जगह पर जाना हो तो इस प्रकार आप लोग GPS आप लोगों को उस जगह पर जाने के लिए सही रास्ते और और दिशा को दर्शाता है इस प्रकार की प्रणामी का आप इस्तेमाल पूरे संसार में किया जाता है और और इस उपग्रह के साथ-साथ यह सभी टेक्नोलॉजी बहुत ही अच्छे से काम कर रहा है जीपीएस सिस्टम की व्रत करने के लिए पूरा संसार में 24 का समूह होता है।

यह एक जीपीआरएस का समूह होता है जो अंतरिक्ष में है और इसको भूमि की ओर बिट में रखा गया है सबसे पहले अमीर कौन है इसे सैन्य इस्तेमाल के लिए तैयार किया गया लेकिन उसके बाद में इन्हें आप लोग भी यूज करने लगे इस प्रकार लोग दिनभर 24 घंटे में इसे कभी भी यूज़ कर सकते हैं यह हमेशा आप लोगों की सहायता के लिए तैयार रहेगा हालांकि दोस्तों इसे चलाने के लिए हम लोगों के पास इंटरनेट का होना बहुत ही आवश्यक होता है और यह पहले से ही आप लोगों की डिवाइस में inbuilt होना बहुत ही जरूरी होता है।

GPS का की Full Form क्या होती है?

दोस्तों जीपीएस का पूरा नाम Global Positioning System होता है यह किस प्रकार का सिस्टम होता है जो तीन प्रकार की वस्तुओं से मिलकर तैयार हुआ है उन तीनों का नाम है satellite, ground station, receiver, फोर्स में सेटेलाइट ग्राउंड स्टेशन का इस्तेमाल करते हुए रिसीवर को बताया गया है कि उस स्थान की सही पोजीशन क्या होती है और इसमें रिसीवर के आधार पर आप लोगों के फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप, टेबलेट या फिर आपके गाड़ी आव्हान में लगा हुआ GPS डिस्प्ले हो सकता है।

History of GPS क्या है?

GPS के इस्तेमाल में सबसे पहले दोस्तों अमेरिका के डिफेंस सिस्टम में लाया गया था अगर आप लोग जीपीएस के बारे में बात की जाती है तो इसे सबसे पहले अमेरिका का ही सिस्टम कहा जाता है जो सारे संसार में इस्तेमाल किया जा रहा है भारत ने भी अपना खुद का एक जीपीएस सिस्टम तैयार करके जांच कर दिया है उसे अपना भी कह सकते हैं और 1957 में रूस ने भी स्पूतनिक को टेस्ट कर लिया था। और उसकी सहायता से हम लोगों को सबसे बेहतर लोकेशन प्राप्त होती है।

दोस्तों अमेरिका ने इसे 1960 में प्रारंभ किया था अमेरिका ने वी के लिए जिससे वह अपने सबमरीन के जरिए सबसे बेहतर नेविगेशन दे सकता था और हालांकि अधिक सालों तक जीपीएस का उपयोग सिर्फ सरकार ही केवल करती थी उसके बाद इसे हम और आम जनता भी आसानी से कर रही है जो सरकार इस जीपीएस सिस्टम का इस्तेमाल करती थी वह बहुत ही अपडेट वर्जन है इस प्रकार आप लोगों के जरिए जीपीएस का रूप आता है उसमें ज्यादा बहुत जानकारी नहीं हो पाती है और स्नेह गवर्नमेंट यदि किसी भी जगह को छुपाना चाहे तो वह आसानी से छुपा भी सकती है फिर आप लोगों को वह स्थान दिखाई नहीं दे सकता है।

GPS कैसे काम करता है ?

जीपीएस भूमि की सतह से लगभग 19300 किलोमीटर ऊपर अंतरिक्ष में 24 सैटेलाइट का समूह होता है और यह सब उपग्रह है हर 12 घंटे में एक ही बार में भूमि की परिक्रमा करते रहते हैं जो बहुत ही तेज गति साथ होता है क्योंकि भूमि का एक चक्कर लगाना बहुत ज्यादा लंबा काम होता है इस प्रकार 12 घंटे में भूमि का चक्कर लगाने के लिए इन सभी सेटेलाइट को लगभग 11200 किलोमीटर की तेज से चलना पड़ता है। इस प्रकार जीपीएस एक उपग्रह संदेश को प्रसारित करता है उसमें उपग्रह वर्तमान स्थिति शामिल होती है और इस तरह GPS बहुत सेटेलाइट से प्रसारित संदेश को ऐड करके अच्छी condition की गणना करता रहता है और इस तरह हम लोगों को बताता है कि जीपीएस सिस्टम के इस्तेमाल करने का यूज बताता है।

GPS System का इस्तेमाल किस प्रकार करें?

Gps के बहुत सारे इस्तेमाल सारे संसार भर में हो रहे हैं गवर्नमेंट से लेकर निजी आदमी तक इस्तेमाल रोजाना कर रहे हैं अगर आप लोग भी इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो हम आप लोगों को स्टेप बाय स्टेप बताने वाले हैं।

1. जीपीएस का इस्तेमाल सबसे अधिक किसी लोकेशन को पहचानने के जरिए के लिए किया जाता है अगर आप लोग किसी भी स्थान पर जा रहे हैं और वहां पर आपको पता नहीं होता है कि स्थान किस जगह पर है और किस सिटी में और किस राज्य में स्थित होता है तो इस प्रकार आप लोग जीपीएस की सहायता से बहुत ही आसान तरीके से पता लगा सकते हैं वह स्थान किस जगह पर है।

2.और दोस्तों इस तरह दूसरा तरीका जीपीएस का होता है सबसे अधिक इस्तेमाल नेविगेशन के जरिए किया जाता है अगर आप लोग एक जगह से दूसरे जगह पर जाना चाहती हैं और आपको पता नहीं होता है कि आप जीपीएस की मदद से जा सकते हैं और उसी प्रकार GPS मैं उस जगह की सड़कों की ट्रेन की मार्ग मैं नक्शा होता है उनके द्वारा आप लोग जीपीएस के जरिए आसानी से पहुंच सकते हैं यह आप लोगों को जाना होता है।

Mk PUBG GURU

3. इसके का जीपीएस का इस्तेमाल ट्रैकिंग करने के जरिए भी किया जा सकता है आप लोगों को जिस वस्तु की ट्रैकिंग करना चाहते हैं उसमें जीपीएस डिवाइस आसानी से लगा होना बहुत ही आवश्यक होता है और इस प्रकार आप लोगों ने कभी भी फिल्मों में भी देखा होगा कि किस तरह से जीपीआरएस ट्रैक करके आसानी से व्यक्ति की लोकेशन पता चला लेते हैं आज की तौर पर तो पुलिस भी इस काम को अच्छे से हैंडल कर रही है क्योंकि पुलिस आपकी स्मार्टफोन के द्वारा आप की लोकेशन का पता आसानी से लगा सकती है।

4. गूगल मैप का इस्तेमाल करके भी आप लोग बहुत ही अधिक इस्तेमाल कर रही हैं लेकिन क्या आप लोगों ने कभी सोचा होगा कि यह नक्शा कैसे तैयार किए गए हैं और कहां से आया है हालांकि है नक्शा जीपीएस सिस्टम के द्वारा आए हैं इस प्रकार नक्शे पर जीपीएस के लिए काम करना सेटेलाइट के द्वारा तैयार किया गया है।

मैं आशा करता हूं कि आप लोग कब जान चुके होंगे कि किस प्रकार जीपीएस काम करता है और जीपीएस क्या होता है अगर आपको फिर भी कोई समस्या आती है तो आप इस पोस्ट के कमेंट बॉक्स में जाकर बेधड़क होकर बहुत ही आसान तरीके से पूछ सकती हम आप लोगों की जवाब देने के लिए तात्पर्य रहेंगे इस प्रकार आप लोगों को अभी नई पोस्ट के लिए बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment