ब्लॉग के लिए आर्टिकल कैसे लिखते हैं? ( Full Guide in Hindi )

ब्लॉग के लिए आर्टिकल कैसे लिखते हैं? ( Full guide in 2021 )

हेलो नमस्कार दोस्तों आप सभी का फिर से आज के से एक और नए आर्टिकल में बहुत-बहुत स्वागत है। दोस्तों कभी कभी ब्लॉगिंग के फील्ड में बहुत ही भयंकर कंपटीशन होता है। लेकिन जिनके आर्टिकल लिखने का तरीका सबसे बेस्ट होता है। वही एक सक्सेसफुल ब्लॉगर बनते हैं। अगर आप भी सही से एवं बेस्ट आर्टिकल लिखना चाहते हैं। तो इस पोस्ट में अंत तक बनी रहे।

हालांकि ब्लॉक के लिए आर्टिकल लिखने के काफी सारे तरीके पाए जाते हैं। लेकिन आज के इस पोस्ट में मैं आपको कुछ ऐसे खास तरीके बताने वाला हूं। इनका उपयोग करके आप एक शानदार और बेहतरीन आर्टिकल लिख सकते हो। सबसे पहले आपको नीचे को जो स्टेप दिए हैं। उन्हें फॉलो करें।

स्टेप 1: साथियों यहां पर आपको जिस टॉपिक के बारे में नॉलेज हो उसी के बारे में आपको आर्टिकल लिखना है। अगर आपको उस चीज के बारे में नॉलेज नहीं है। जिसके बारे में आप आर्टिकल लिख रहे हैं। तो पहले आप उसके बारे में रिसर्च करें और ठीक से उसके बारे में समझने के बाद फिर आप आर्टिकल लिखें। अगर आपको जिस चीज में इंटरेस्ट हो आप उसके बारे में भी आर्टिकल लिख सकते हो।

स्टेप 2: फिर आप जिस टॉपिक के बारे में आर्टिकल लिखना चाहते हैं। तो आपको से संबंधित कीवर्ड भी रखने होते हैं। तो आप सोचती हो उसमें कौन सी हेडिंग रखी जाए। यदि आप उसके अंदर हेडिंग एवं सब हेडिंग रहोगे अर्थात उस पोस्ट के अंदर जो इमेज को पोस्ट करते हो तो इसके लिए आपको सब कुछ पहले से ही तैयार करके रखना पड़ेगा। उसके बाद ही आप आर्टिकल लिखें।

SEO फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखते हैं?

दोस्तों जब कभी आप कोई पोस्ट लिखे हैं। तो उसमें सबसे मुख्य चीज टाइटल ही मानी जाती है। टाइटल के अंदर आपको प्राइमरी कीबोर्ड रखने होते हैं। फिर आपको नंबर उपयोग करना पड़ेगा उदाहरण के तौर पर मेरा प्राइमरी कीवर्ड है ” कि ब्लॉक के लिए आर्टिकल कैसे लिखते हैं ” तू जैसा टाइटल मैंने लिखा है। आपको भी बिल्कुल इसी तरह से टाइटल लिखना पड़ेगा। एवं आपको नंबर भी अपने टाइटल में ही इंक्लूड करना पड़ेगा। क्योंकि नंबर लिखने से टाइटल काफी एक अट्रैक्टिव दिखता है। जिससे यूजर उस पर जल्दी क्लिक करता है।

दोस्तों पोस्ट लिखते वक्त जो दूसरी चीज वह परमालिंक होती है। परमा लिंक के अंदर आपको प्राइमरी की वर्ड लिखने पड़ते हैं। लेकिन आपकी परमा लिंक चार से पांच शब्द की ही हो इससे ज्यादा नहीं होनी चाहिए। आप जितनी शॉट परमा लिंक लिख पाओगे आप के लिए उतना ही अच्छा रहता है। और आपको परमार लिंक में केवल उसी की वर्ड को लिखना है।जो आपने प्राइमरी कीवर्ड्स लिखे हैं।

आर्टिकल के शब्दों की लंबाई कितनी होनी चाहिए?

साथियों अगर आप जब भी कोई पोस्ट अपलोड करें तो उसमें कम से कम 600 शब्द होने चाहिए। अगर आपने कोई आर्टिकल लिखा है। और उसमें 600 से भी कम शब्द हैं। तो आपकी इस पोस्ट को गूगल में रंग होने में काफी ज्यादा समय लग सकता है। यदि आप अपनी किसी आर्टिकल को 1000 शब्द से भी अधिक शब्दों में लिखते हैं। तू वह जल्द ही रैंक को याद आया तो मैं आपको यही बोलूंगा कि आप ज्यादा से ज्यादा शब्दों का आर्टिकल लिखें। क्योंकि यह आपके ऑन पेज एसीईओ के लिए काफी बेहतर रहता है।

प्राइमरी कीवर्ड्स को कितना उपयोग करें?

ध्यान रखे हैं आप जिस वीर की वर्ष पर पोस्ट लिखते हो वह आपको अपने आर्टिकल में केवल 0.5% के टोटल शब्द होना जरूरी है। उदाहरण के तौर पर आपने 1000 शब्दों का कोई आर्टिकल लिख दिया है। तो आपका कीवर्ड रहेगा ” ब्लॉग आर्टिकल कैसे लिखें या फिर ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें” तो आपको 1000 शब्दों के लिए 0.5 % यानी कि इसका मतलब आपको इसमें केवल पांच बातें ही लिखनी है।

प्राइमरी कीवर्ड्स कहां कहां लिखें?

पहले तो आपको टाइटल में ही प्राइमरी कीवर्ड लिखना है। फिर आप को परमा लिंक में इसके बाद 100 शब्दों के पैराग्राफ में मुख्य कीवर्ड को लिखना है। एवं h1 हेडिंग में आप मुख्य कीवर्ड को लिख दें। इसके बाद आपको लास्ट वाले पैराग्राफ में मुख्य कीवर्ड लिखना है। उसके बाद आपको मेटा डिस्क्रिप्शन में वही मुख्य कीवर्ड लिख देना है। फिर आप फोकस की वर्ड में मुख्य की वर्ड लिखें एवं टैग और इमेज के alt टैग में भी आपको वही मैन की वर्ड लिखना है।

Note : आप जिस भी इमेज को अपनी पोस्ट में डाल रहे हो उसके अंदर आपको एलटी टैग, टाइटल एवं कैप्शन मैं मुख्य कीवर्ड लिख देना है। फिर आप इमेज को कंप्रेस्ड करके डालें और हमेशा यह चेक कर लें कि कोई इमेज कॉपीराइट तो नहीं है। हमेशा कॉपीराइट फ्री इमेज का ही उपयोग करें। जब भी आपको ही पोस्ट लिखें तो उसमें कैटिगरीज जरूर डालें।क्योंकि गूगल फिर उसे यह पता लगा लेता है। कि आपकी पोस्ट किससे संबंधित है। इसी के साथ आपको टैग भी लिखने हैं। क्योंकि टैग से गूगल को समझ में आ जाता है। कि आपकी पोस्ट किसके बारे में की गई है। एवं आप अपनी पोस्ट में आप हमेशा इंटरनल एवं एक्सटर्नल लिंकिंग जरूर करें। इससे गूगल आपकी पोस्ट को क्रोल कर देता है।TX YT

यानी कि उसमें जो भी इंटरनल लिंक्स होती हैं।हम पोस्ट को भी क्रॉल कर देता है। और सबसे मुख्य बात अथॉरिटी साइट के द्वारा एक्सटर्नल लिंकिंग भी जरूर कर दें। एवं आप जितनी बार मेन की वर्ड लिखें तो उन्हें आपको बोल्ड कर देना है। क्योंकि ऐसा करने से सर्च इंजन यह पता लगा लेता है। कि आपके आर्टिकल यानी की पोस्ट का मुख्य कीवर्ड कौन सा है?क्योंकि आपकी पोस्ट उसी की वर्ड के द्वारा जल्दी रैंकहोती है।

आर्टिकल पब्लिश करने के बाद कुछ महत्वपूर्ण टिप्स?

दोस्तों जब आप अपने आर्टिकल को पब्लिक्स कर देते हैं। तो आपको उस आर्टिकल को अपनी सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर कर देना है।क्योंकि इससे ट्रैफिक आने के चांसेस बढ़ जाते हैं। एवं इंडेक्सड भी जल्दी हो जाता है। एवं आप अपनी पोस्ट को गूगल एवं बिंग सर्च कंसोल में भी जरूर सबमिट कर दें। क्योंकि ऐसा करने से आपकी पोस्ट गूगल में जल्द ही इंडेक्सड हो जाती है। और पोस्ट पब्लिक हो जाए।

तब उसके 1 महीने बाद उस पोस्ट के लिए क्वालिटी बैकलिंक्स भी जरूर बनाएं क्योंकि इससे आपकी पोस्ट टॉप नंबर पर रैंक होती है। पोस्ट पब्लिश करते समय आप बैकलिंक ऑप्शनल कर सकती हो। अगर आप नहीं भी करोगे तो आपको कोई भी समस्या नहीं आती है। और दोस्तों सब से मोह के बाद आपको उसी टॉपिक पर आर्टिकल लिखना है।

जिसमें आप इंटरेस्टेड हो अगर आपउस टॉपिक के बारे में आर्टिकल लिखोगे जिसमें आपका इंटरेस्ट है। तो आप जिस आर्टिकल को भी अपने तरीके से लिखोगे तो उसे एक बेहतरीन और नया रूप दे सकते हो। यदि आपको किसी भी चीज के बारे में जानकारी नहीं है। तो आप यूट्यूब या फिर गूगल पर सर्च करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

निष्कर्ष (conclusion )

दोस्तों ब्लॉगिंग के लिए आर्टिकल कैसे लिखें, की जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। और हमें उम्मीद है कि हमारी इस पोस्ट से आपको जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे आप इसे आगे तक भी शेयर कर सकते हैं। यदि इस पोस्ट के बारे में आपका कोई सवाल है। तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं धन्यवाद।

Leave a Comment